छिन गया मुंह आया निवाला, भारतीय खिलाड़ी ब्रॉन्ज जीतने के बाद अयोग्य करार

0
608
Govindan Laxman, Asian Games, एशियन गेम्स

कहते हैं किसी के भाग्य में कोई चीज ना लिखी हो तो लाख जतन बाद भी वह हासिल नहीं होती। कुछ ऐसा ही हुआ है एशियन गेम्स में भारतीय एथलीट गोविंदन लक्ष्मणन के साथ। गोविंदन लक्ष्मणन ने एशियन गेम्स में रविवार को पुरुषों की 10,000 मीटर रेस में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। लेकिन एक लैप के दौरान ट्रैक से बाहर जाने के कारण उनसे यह पदक छीन लिया गया। 

गोविंदन ने 29 मिनट और 44.91 सेकेंड के साथ अपना पहला एशियन मेडल जीता था। रेस में मेडल जीतने वालों की लिस्ट में उनका नाम भी आ गया था, लेकिन बाद में आयोजकों ने गोविंदन की गलती पकड़ ली और उन्हें अयोग्य करार दिया गया। 

अयोग्य ठहराए जाने के बाद वे सूची में सबसे नीचे आ गए। गोविंदन के अयोग्य ठहराए जाने के बाद रेस में चौथे स्थान पर रहे चीन के चांग होंगझाओ को कांस्य पदक मिला। झाओ ने 30.07.49 सेकेंड में रेस पूरी की थी। 

10,000 मीटर रेस का गोल्ड मेडल बहरीन के हसन चानी ने जीता। उन्होंने 28 मिनट 35.54 सेकेंड का वक्त निकालकर गोल्ड जीता। वहीं बहरीन के ही अब्राहम चेरोबन ने सिल्वर मेडल जीतने में सफलता हासिल की। अब्राहम ने 29 मिनट 00.29 सेकेंड में रेस पूरी की। 

LEAVE A REPLY