आईसीसी ने दिखाई आंख तो बीसीसीआई ने सुनाई खरी-खरी

Latest Sports news, Cricket news, Star India, BCCI, BCCI Media rights, बीसीसीआई, स्टार इंडिया, भारतीय क्रिकेट टीम, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच,

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) दुनिया का सबसे अमीर और मजबूत क्रिकेट बोर्ड है. बीसीसीआई समय-समय पर इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) की गलत नीतियों का विरोध करता रहता है. वहीं आईसीसी भी बीसीसीआई को घेरने का कोई मौका हाथ से नहीं जाने देता.

एक ताजे मामले में भी दोनों आमने-सामने होते दिखाई दे रहे हैं. आईसीसी ने हाल ही में तिमाही बैठक के दौरान बीसीसीआई को धमकी दी थी. बीसीसीआई को यह कहा गया था कि अगर उसे टी-20 वर्ल्ड कप-2021 और वनडे वर्ल्ड कप-2023 की मेजबानी करनी है तो उसे टैक्स में छूट देनी होगी. अगर बीसीसीआई ऐसा नहीं कर पाता है तो उसे मेजबानी खोनी पड़ सकती है.

हालांकि आईसीसी की इस धमकी को बीसीसीआई ने गंभीरता से नहीं लिया है. 
बीसीसीआई ने कहा है कि आईसीसी चाहे तो वर्ल्ड कप को भारत से बाहर ले जा सकता है. टैक्स का मुद्दा सरकार का है जिसके लिए सरकार की मंजूरी की जरूरत होती है. इस तरह के बाहरी दबाव इसमें कोई मदद नहीं कर सकते.

बीसीसीआई ने दो टूक शब्दों में कहा कि अगर आईसीसी टूर्नामेंट बाहर ले जाना चाहते है तो कोई बात नहीं. फिर बीसीसीआई अपना रेवेन्यू भी आईसीसी से वापस लेगा. फिर देखेंगे कि किसका नुकसान होता है.

बीसीसीआई ने कहा कि आईसीसी दावा तो सभी को साथ लेकर चलने का करती है, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि उसकी कोशिश हर तरह से बीसीसीआई को नुकसान पहुंचाने की होती है. 

पहले भी ऐसा पाया गया है कि आईसीसी का अपने सदस्यों से अलग तरह का बर्ताव करता है. उदाहरण के तौर पर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ टैक्स में छूट हासिल करने की कोशिश करने को कहा जाता है. वहीं बीसीसीआई को यह बात सुनिश्चित करने को कहा जाता है कि वह टैक्स में छूट हासिल करे.

बीसीसीआई ने साफ किया कि वह आईसीसी के किसी अनावश्यक दबाव के आगे नहीं झुकेगा.
 

LEAVE A REPLY