ऑस्ट्रेलिया दौरे का शानदार समापन, पहली बार एक भी सीरीज नहीं हारा भारत

भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया दौरे का शानदार समापन किया है. तीन मैचों की वनडे सीरीज के तीसरे मुकाबले को जीतकर भारतीय टीम ने सीरीज 2-1 से अपने पक्ष में कर ली. इससे तीन मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से बराबर रही थी. उसके बाद चार टेस्ट मैचों की सीरीज भारतीय टीम ने 2-1 से जीती थी. 

231 रनों का लक्ष्य लेकर मैदान में उतरी भारतीय टीम ने अंतिम ओवर (49.2) में तीन विकेट खोकर जीत हासिल कर ली. भारत की ओर से विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने शानदार 87 रनों की पारी खेली. 

धोनी की यह पारी ऐसे समय में आई जब टीम की इसकी बेहद आवश्यकता थी. उन्होंने अपनी पारी में छह चौके जमाए. धोनी के अलावा केदार ने 61 रनों की शानदार पारी खेली, जिसमें उन्होंने सात चौके जमाए. ये दोनों ही बल्लेबाज मैच के अंत तक नाबाद रहे. 

इससे पहले कप्तान विराट कोहली 46 रन बनाकर रिचर्ड्सन का शिकार बने. इसके अलावा रोहित शर्मा 9 रन बनाकर आउट हुए, उन्हें पीटर सिडल ने आउट किया. दूसरे ओपनर शिखर धवन को 23 के स्कोर पर मार्कस स्टोनिस ने अपनी ही गेंद पर लपका. 

मैच में छह विकेट लेने वाले भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल को 'मैन ऑफ द मैच' और सीरीज में लगातार तीन अर्धशतक जमाने वाले धोनी को 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' चुना गया. 

इससे पहले गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन की बदौलत भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को तीसरे वनडे में सीमित स्कोर (230) पर रोक दिया था. भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले ऑस्ट्रेलिया को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया था. 

ऑस्ट्रेलिया टीम निर्धारित ओवर भी नहीं खेल सकी और 48.4 ओवर में 230 रनों पर ऑलआउट हो गई. नियमित अंतराल में ऑस्ट्रेलिया के विकेट रहे जिसके चलते टीम बड़ा स्कोर नहीं बना सकी. 

ऑस्ट्रेलिया को सस्ते में समेटने में निर्णायक भूमिका निभाई भारतीय स्पिनर युजवेंद्र चहल ने. चहल ने इस मैच में जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया की कमर तोड़कर रख दी. चहल ने दस ओवर गेंदबाज कर 42 रन खर्च करते हुए छह कंगारू बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया. 

यह वनडे क्रिकेट में चहल का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी विश्लेषण भी रहा. चहल ने वनडे में दूसरी बार पांच विकेट और पहली बार छह विकेट लिए हैं. चहल के अलावा तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी भी दो-दो विकेट लेने में कामयाब रहे. 

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों में सर्वाधिक 58 रन पीटर हैंड्सकॉम्ब ने बनाए. इसके अलावा शॉन मार्श ने 39 और उस्मान ख्वाजा ने 34 रन बनाए. अन्य सभी बल्लेबाज साधारण स्कोर पर ही आउट हो गए. ग्लेन मैक्सवेल (26), रिचर्ड्सन (16), कप्तान एरॉन फिंच (14), पीटर सिडल (10), एडम जंपा (8) और एलेक्स कैरी (5) कोई खास कमाल नहीं दिखा सके. 
 

LEAVE A REPLY