किस्सेः वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे ब्लॉकबस्टर मुकाबला

AUSvsSA, SAvsAUS, Ricky Ponting, Herschelle Gibbs, chakdesports, रिकी पोंटिंग, हर्सेल गिब्स, चकदे स्पोर्ट्स, #EmediaManoj

क्रिकेट के इतिहास में आज का दिन यानि 12 मार्च एक खास याद के रूप में दर्ज है. क्रिकेट के रोचक इतिहास में आपने एक से एक कांटे के मुकाबले देखे होंगे. लेकिन जिस मुकाबले की बात हम आज करने जा रहे हैं वो मुकाबला अपने आप में एक मिसाल है. 

हाई स्कोरिंग मुकाबले तो आपने काफी देखे होंगे लेकिन ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है कि दूसरी पारी खेलने वाली टीम भी उसी स्तर का खेल दिखाए वो भी तब जब पहली टीम 434 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया हो. आप समझ ही गए होंगे कि हम किस मुकाबले की बात कर रहे हैं. 

हम बात कर रहे हैं साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 12 मार्च, 2006 को खेले गए इस कभी ना भूलने वाले मैच की. यह मुकाबला साउथ अफ्रीका के जोहानसबर्ग में खेला गया था और वनडे सीरीज़ का पांचवां मैच था. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया. 

मेहमान टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 434 रनों का पहाड़ सा स्कोर खड़ा किया. इस पारी में कप्तान रिकी पोंटिंग ने 105 गेंदों में 164 रनों की धमाकेदार पारी खेली थी. इस पारी में उन्होंने 13 चौके और 9 छक्के जमाए थे. इसके अलावा माइक हसी ने 81, साइमन कैटिच ने 79 और एडम गिलक्रिस्ट ने 55 रनों का योगदान दिया. 

हैरानी इस बात की नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया ने 434 रन कैसे बना लिए. हैरानी इस बात की है कि इतना बड़ा स्कोर सफलतापूर्वक चेज भी हो गया. वनडे क्रिकेट इतिहास में आज तक इतना बड़ा स्कोर कभी चेज नहीं किया गया है. खैर ये जानना भी रोचक है कि साउथ अफ्रीका ने इतना बड़ा स्कोर चेज कैसे किया. 

साउथ अफ्रीका की शुरुआत तो कुछ खास नहीं रही थी और टीम को 3 रन के स्कोर पर ही बोएटा डिपेनार (1) के रूप में पहला झटका लग गया था. लेकिन इसके बाद जो हुआ इतिहास बनने वाला था. इसके बाद कप्तान ग्रीम स्मिथ और हर्शेल गिब्स मैदान पर ऐसे जमे की ऑस्ट्रेलिया की नींद उड़ाकर रख दी. 

इस मैच में अफ्रीकी पारी के सबसे बड़े नायक बने हर्शेल गिब्स जिन्होंने 111 गेंदों में ही 175 रन उड़ा डाले. 157.66 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने इस पारी में 21 चौके और 7 छक्के जमा डाले. 

दूसरी ओर स्मिथ भी कुछ कम नहीं थे उन्होंने भी 55 गेंदों में 90 रन ठोक दिए. उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जमाए. बाद के बल्लेबाजों की जीत की औपचारिकता जरूर पूरी की लेकिन टीम को हौसला और जीत की नींव इन दोनों ने ही रखी. 

साउथ अफ्रीका ने एक गेंदे शेष रहते नौ विकेट के नुकसान पर 438 रन बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया को इस हाई वोल्टेज मुकाबले में हरा दिया. इस मैच में दो खिलाड़ियों को 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया था. ये दोनों खिलाड़ी थे हर्शेल गिब्स और रिकी पोंटिंग जिन्हें शतकीय पारी खेलने का इनाम मिला. 

यह मुकाबला पांच वनडे मैचों की सीरीज़ का निर्णायक मैच भी था. इस मैच को जीतकर साउथ अफ्रीका ने सीरीज़ 3-2 से अपने नाम की थी. इस मुकाबले को आज पूरे 13 साल हो चुके हैं लेकिन आज तक ऐसा मुकाबला फिर कभी देखने को नहीं मिला. 

LEAVE A REPLY