बजरंग नहीं होता तो मैं संन्यास नहीं लेताः योगेश्वर दत्त

Yogeshwar Dutt, Wrestler, Indian Wrestler,

भारत के पूर्व दिग्गज रेसलर योगेश्वर दत्त आज अपना 35वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस खास दिन पर उन्होंने कुछ खास बातें मीडिया के साथ शेयर की। उन्होंने कहा कि रेसलिंग से संन्यास लेने का फैसला बहुत कठिन होता अगर बजरंग जैसा शिष्य उनके पास नहीं होता। उन्होंने कहा कि अगर बजरंग नहीं होता तो मैं संन्यास नहीं लेता। मैं और स्पर्धाओं में भाग लेता और शायद एक वजन वर्ग ऊपर हो जाता। 

योगेश्वर ने कहा कि उन्हें गर्व है कि उनके पास बजरंग पूनिया जैसा शिष्य था। उन्होंने कहा कि ओलंपिक गोल्ड जीतने वाला देश का पहला रेसलर बन सकता है। वह अभी 24 साल का है और उनमें बहुत अधिक संभावनाएं हैं। जूनियर स्तर से उसने अपार प्रतिभा दिखाई है और अभी तक वह अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींच रहा है। 

 

LEAVE A REPLY