खुद को साबित करना खेल भावना के विपरीतः सुशील कुमार

0
305
Commonwealth Games, Sushil Kumar, कॉमनवेल्थ गेम्स, सुशील कुमार, रेसलिंग,

अनुभवी पहलवान सुशील कुमार को एशियाई खेलों से पहले एक टूर्नमेंट में हार से सामना करना पड़ा, जिससे उनकी फॉर्म को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं। लेकिन उन्होंने दमखम बाकी होने का दावा करते हुए कहा कि वह यहां कुछ सबित करने नहीं आए हैं। 

ओलिंपिक में भारत की ओर से एकल स्पर्धा में दो मेडल जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी सुशील पिछले महीने जॉर्जिया में हुए त्बिलिसि ग्रां प्री में हार गए थे। 4 साल में यह पहला मौका था जब सुशील पहले बाउट में ही हार कर बाहर हो गए। वह एशियाई खेलों की तैयारी के लिए जॉर्जिया गए थे। 

सुशील से जब हार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "तो क्या हुआ। खिलाड़ी कभी जीतता है, तो कभी हारता है। असली खिलाड़ी वही है, जो हारने के बाद कड़ी मेहनत करके वापसी करता है। असली खिलाड़ी वह है, जो जीतने के बाद भी मैट नहीं छोड़ता है। मैं भी वहीं करना चाहता हूं।"

सुशील ने यहां अभ्यास सत्र के बाद कहा, 'मैंने एशियाई खेलों के लिए अच्छी तैयारी की है लेकिन यहां कुछ साबित करने नहीं आया हूं। खुद को साबित करना खेल भावना के विपरीत है। आपको बता दें कि सुशील एशियन गेम्स में 74 किलोग्राम भार वर्ग में हिस्सा लेंगे।

LEAVE A REPLY